सानिया नेहवाल के बारे मैं बताऊंगी, उनका परिचय और बहुत कुछ, अली ओलंपिक खेलों में महिला एकल बैडमिंटन का कांस्य पदक जीतने वाली देश की पहली महिला खिलाड़ी

सानिया नेहवाल के बारे
सानिया नेहवाल के बारे

 परिचय

 सानिया का जन्म 19 मार्च 1990 को हिसार हरियाणा के एक जाट परिवार में हुआ था इनके पिता का नाम डॉक्टर हरवीर सिंह ने माल था और माता का नाम उषा ने माल है शासन या साइन के नाम से बना है सानिया साइना से शुरुआती परीक्षण हैदराबाद के लाल बहादुर स्टेडियम हैदराबाद में कुछ नानी प्रसाद के प्राप्त किया माता-पिता दोनों के बैडमिंटन खिलाड़ी होने के कारण शायद बैडमिंटन की ओर रुझान शुरू से ही था पिता हरवीर सिंह ने बेटी की रुचि को देखते हुए उसे पूरा सहयोग और प्रोत्साहन दिया चाइना अब तक कई बड़ी उपलब्धियां अपने नाम पर कर चुकी है वह विश्व कठिन काका ने कनिष्ठ बैडमिंटन विजेता रह चुके हैं

 अली ओलंपिक खेलों में महिला एकल बैडमिंटन का कांस्य पदक जीतने वाली देश की पहली महिला खिलाड़ी उन्होंने ट्वेंटी सिक्स में एशियाई प्रतियोगिता भी जीती है उन्होंने इंडोनेशिया ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन प्रतियोगिता का खिताब अपने नाम किया उपलब्धि अपने किसी अन्य भारतीय महिला को हासिल हुई थी दिल्ली में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल में उन्होंने स्वर्ण पदक हासिल किया वर्ष 2015 में नई दिल्ली को योनेक्स सनराइज इंडिया ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन प्रतियोगिता के सेमीफाइनल में विश्व चैंपियन जापान की हाशिमोतो को 44 मिनट में 2111 से हराने के साथ ही दुनिया केस रेस विराज खिलाड़ी बनिया फाइनल मैच में थाईलैंड की रत्नो कानून की हराकर 29 मार्च 2015 को यूनिक्स सनराइज इंडिया ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला एकल का खिताब की विजेता बन अप्रैल 2040 में अधिकारिक रूप से उनकी विश्व रैंकिंग प्रथम घोषित की गई इस मुकाम पर पहुंचने वाली प्रथम महिला है बैडमिंटन खिलाड़ी  भी है

 पेशेवर जीवन ट्वेंटी सिक्स 2009


 किचन सेट में सानिया अंडर-19 राष्ट्रीय चैंपियन बनी और दो बार प्रदेश ईस्ट एशियन सेटेलाइट बैडमिंटन टूर्नामेंट इंडिया चैप्टर जीतकर इतिहास बनाया वह ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी बने मदारी 2664 सितारा टूर्नामेंट फिलिपिंस ओपन जीतने वाले दूसरे भारतीय महिला बनी और तभी से वह वैश्विक परिदृश्य पर छा गई 86 स्वभाव एरियता वाली सायना ने टूर्नामेंट में प्रवेश कर खिताब के लिए मलेशिया की जोड़ी आ जाए जियान को हराने से पहले दुनिया के नंबर 40 वाले और कई शीर्ष वरीयता प्राप्त खिलाड़ियों को अचेत करती चली गई उसी वर्षा से वरीय चीनी खिलाड़ी वांग के खिलाफ एक कठिन लड़ाई लड़ी लेकिन हार गए और टू टेक 22006 बिल्लियों एक विश्वकप इन बैडमिंटन प्रतियोगिता की उप विजेता बनी और नवी वीडियो था

Click Here- https://www.film24.in/2020/01/blog-post.html

Best Story- https://www.film24.in/2020/01/blog-post_11.html

Free Story- https://www.film24.in/2020/01/15-1986.html 

 प्राप्त जापानी सायका सातो को एक केस नो 21 18 हराकर 28 विश्व का टेस्ट बैडमिंटन प्रतियोगिता जीतने वाली पहली भारतीय बने एक बेहद ही रोमांचक 3 घूम के मुकाबले सेवर चतुर्थ वीराया विश्व की पांचवीं श्रेष्ठ खिलाड़ी हांगकांग की वांग चेन को हराकर ऑल में ओलंपिक खेल के कार्ड बा फाइनल में पहुंचने वाली प्रथम भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई कार्टून फाइनल में वह 16वीं वरीयता प्राप्त मारिया किस ट्रेन यात्री के एक बेहद कड़े मुकाबले में हार गए सितंबर सितंबर 2008 में उन्होंने मलेशिया के लिए अच्छी-अच्छी गालियां को 18 119 से हराकर यूएस ओपन का खिताब जीता सानिया को ट्वेंटी सिक्स में मोस्ट प्रॉमिनेंट सिक्स प्लेयर के खिताब दिया दिया गया इसके बाद दिसंबर 2008 में विश्व सुपर सीरीज के सेमीफाइनल तक पहुंच गई 30 जून 2009 को इंडोनेशिया ओपन जीतकर व विश्व की सबसे प्रसिद्ध बीडब्ल्यूएफ सुपर सीरीज जीतने वाली पहली महिला भारतीय खिलाड़ी बन गई उन्होंने फाइनल में चीन की वांग लिन को 12 19 21 28* 12 9 से हराया साइना को सफलतापूर्वक 2010 उबर कप फाइनल में कौन करवट का फाइनल चरण के लिए भारतीय महिला टीम के निर्णय किया सायना व्हेन सानिया विजेता टीम ने रासमुसेन से हारने से पहले 2010 ऑल इंग्लैंड सुपर सीरीज के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला बनी

 श्री शुभता प्राप्त साइना

 यूनिक्स सनराइज बैडमिंटन एशिया चैंपियनशिप 2010 में  चीन की गर्मी खिलाड़ी लाली गुजरी के को हारने से पहले सेमीफाइनल तक पहुंच गई सानिया की खोज के कोच गोपीचंद ने उन्हें घरेलू दर्शकों के भारी असमर्थ पर खुद बहू पर बहुत अधिक दबाव न लेने की सलाह दी साइना ने मलेशिया की वांग म्यूजिक को 2010 इंडिया ओपन ग्रांप्री गोल्ड में हराकर टूर्नामेंट में अपनी फ्रेश वीरता को चित्र 18 देशों पर ग्राम गोल्ड टूर्नामेंट में जीत कर उन्होंने पुरस्कार राशि जीत ली नेवा सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज 2010 में फिर से नंबर वन विजेता प्राप्त कर चीन की

 विश्व चैंपियन यूनान को हराकर फाइनल में प्रवेश किया साइना ने सिंगापुर ओपन के फाइनल में चीनी ताइपे की जू 12815 से हराकर अपने कैरियर का दूसरा सुपर सीरीज खिताब जीता साइना ने इस साइना ने इस बीडब्ल्यू पिक सुपर सीरीज टूर्नामेंट को जीतकर $15000 की पुरस्कार राशि जीत ली और अपने करियर के शीर्ष वरीयता अच्छा पर पहुंच गए सानिया ने जापान की सयाका सातो को एक कठिन खेल में एक किस तेरा 12111 से हराकर अपने इंडोनेशिया अपने सुपर सीरीज खिताब पर बचाव किया इस उनका तीसरा सुपर सीरीज खिताब और इंडियन ओपन सिंगापुर ओपन सीरीज के बाद लगातार तीसरा खिताब था उन्होंने फिर से बिल्लू डे सुपर सीडर टूर्नामेंट को जीतने के लिए 18750 के शीर्ष पुरस्कार राशि मिली 15 जुलाई 2010 को शिष्टाचार 709 एक आपके साथ सानिया नेहवाल ने केवल चीन की वांग यिहान के पीछे नंबर दो पर अपने करियर के उच्चतम वीरता पर पहुंच गए दूसरी वरीयता प्राप्त सानिया टूर्नामेंट में प्रसिद्ध खिलाड़ी थी लेकिन सीधे सेटों में 821 1431 से चौथी वरीयता प्राप्त चीन की वांग शिजियान से हराकर पेरिस में हो रहे 2010 वीडियो प्रतियोगिता से बाहर हो गई हालांकि उन्होंने इस टूर्नामेंट में हैदराबाद में खेले गए अपने पीछे पिछले सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बराबरी की लेकिन इस हार के बाद विश्व वीरता के नाम नंबर 3 पर पहुंच गई

                                                      धन्यवाद..
#24MOVIES #24FREEMOVIE

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां